Category: IAS-Babulal-Agrawal

Babulal Agrawal got relief from Delhi high court

Senior IAS Officer Babulal Agrawal

Senior IAS Officer Babulal Agrawal को बड़ी राहत मिली है. दिल्ली हाईकोर्ट ने बीएल अग्रवाल और उनके रिश्तेदार आनंद अग्रवाल के विरुद्ध चल रही सीबीआई जांच पर रोक लगा दी है.

पूर्व IAS बी एल अग्रवाल पर सीबीआई ने यह आरोप लगाया था कि वे अपने विरुद्ध एक प्रकरण को प्रभावित करने के लिए रिश्वत दे रहे थे। पूर्व IAS बी एल अग्रवाल को इस मामले में फ़रवरी 2017 में CBI ने गिरफ़्तार कर लिया था। बाबूलाल अग्रवाल 1988 बैच अधिकारी हैं इन्हें सर्विस रिव्यू कमेटी की सिफारिशों के आधार पर अनिवार्य सेवानिवृत्ति दी गई थी.

 

CAT reappointed Senior IAS Babulal AGRAWAL

Senior IAS Babulal Agrawal

The Central Administrative Tribunal (CAT) has rejected the orders of the Central and State government, on the forceful retirement of Chhattigarh cadre Senior Officer IAS Babulal Agrawal.

After the recommendation of Chhattisgarh Government about the forceful retirement of the IAS officer in the unfavorable Confidential Report (CR), the Central government had earlier terminated his services.

Against the orders of government of forceful retirement, Babulal Agrawal approached the Central Administrative Tribunal, New Delhi.

The bench of Justice Pramod Kohli and Justice K.N. Shrivastava, announced the verdict after hearing the plea of the officer, on Thursday.

It has directed the State government to reinstate BL Agrawal services. As per the orders of CAT, he would have to be reinstated from the date of the retirement given to him. “His seniority has to be maintained”.

 

IAS Officer Babulal Agrawal CAT Reappointed

रायपुर 5 अप्रैल 2018। 1988 बैच केIAS-Babulal-Agrawal को सबसे बड़ी राहत मिली है। दिल्ली स्थित CAT की दो सदस्यीय बैंच ने राज्य सरकार और केंद्र सरकार को करारा झटका देते हुए बी एल अग्रवाल की अनिवार्य सेवानिवृत्ति का आदेश रद्द कर दिया है।
अब से कुछ देर पहले सार्वजनिक किए गए फ़ैसले में कैट ने आदेश दिया है कि, बी एल अंग्रवाल की अनिवार्य सेवानिवृत्ति का आदेश रद्द करती है और बी एस अग्रवाल को पुरानी वरिष्ठता समेत सारी व्यवस्था बहाल की जाती है।
बी एल अग्रवाल ने NPG से कहा-

“ मैं पहले भी कहता रहा मैं अब भी कह रहा हूँ मैंने सार्वजनिक जीवन में ना ग़लत किया ना अहित किया। न्यायालय का फ़ैसला सत्यमेव जयते की मूल अवधारणा पर मेरे विश्वास को मज़बूती देता है, मेरे शुभचिंतकों का साथ रखने भरोसा करने के लिए धन्यवाद, और जो अज्ञात कारणों से मेरे विरुद्ध षड्यंत्र रचते है उनके लिए ईश्वर से प्रार्थना कि उन्हें सद्बुद्धि मिले ”

इससे पहले आईपीएस केसी अग्रवाल को भी कैट से बड़ी राहत मिली थी। केंद्र और राज्य सरकार को बड़ा झटका देते हुए केसी अग्रवाल की भी अनिवार्य सेवानिवृत्ति के फैसले को खारिज कर दिया गया था। पिछले साल 9 अगस्त को भारत सरकार के निर्देश पर दो आईएएस अफसर 1986 बैच के अजय पाल सिंह और 1988 बैच के बीएल अग्रवाल को फोर्सली रिटायरमेंट दी गयी थी। वहीं तीन आईपीएस अफसरों पर जबरिया रिटायरमेंट की कार्रवाई की गयी थी। तीन अफसरों में राजकुमार देवांगन के अलावे केसी अग्रवाल और एएम जूरी शामिल थे, जिसमें केसी अग्रवाल को फिर से बहाल करने का निर्देश राज्य सरकार को कैट ने दिया था।

 

IAS B L Agrawal Case, High Court issues notice to CBI

IAS B L Agrawal has challenged the action of CBI against him in the Hon. High Court of Bilaspur. Upon hearing, the Court has issued notice to CBI and the State Government to file its reply within 04 weeks on both the petition as well as on the interim application.

According to CG Government notification, CBI has no jurisdiction to have done what it did in the territory of the Chhattisgarh State.

Senior IAS Officer Babulal Agrawal Visited Schools and College

Senior IAS Officer Babulal Agrawal Visited Schools and College

प्रमुख सचिव की कॉलेज व स्कूलों में दबिश |
“नहीं कराते पढाई” प्राध्यापकों को नोटिस |

Senior IAS BL Agrawal inspecting Schools and Colleges

Senior IAS BL Agrawal inspecting Schools and Colleges

Senior IAS BL Agrawal Visited Schools for Inspections

Senior IAS BL Agrawal Visited Schools for Inspections

     

 

 

 

 

Dr